एक रात

एक रात गुज़र गई तुम्हारी तस्वीर देखते हुए। एक रात बीती तुम्हारे बारे में सोचते हुए। एक रात बैठे कुछ पुराने खत लिए। एक रात फिर समझाया इस दिल को। एक रात हम दो थे आसमां में तारों संग घंटों बाते करते हुए। एक रात गुज़ारी तुमने भी वो उपन्यास साथ में पढ़ते हुए। एक […]

Read More एक रात

sos

a well of nightmaresa fort of isolationi run i run i runalong the corridorsfollowing the stairsup and down i see dead and ghostshaunting me by bed sidei am being swallowed alivetill now the umpteenth timei run i run i runbehind the closed doorsfollowing the stairsup and down i fear the imageson the pristine silver glassthey […]

Read More sos

यादें

खंगालते रहा मैं यादें तुम्हारी उस पिटारे सेकुछ तस्वीरें बाहर निकल आयीकुछ शायद कहीं गुम हो गई।और बैठे रहा फिर मैं देर तकजो तुम याद आएबहुत याद आए। –गौरव

Read More यादें

A Limb Just Moved

You taught Your songs to the birds first, why was that? And you practiced your love in the hearts of animal, before You created man, I know all the planets talk at night and tell me secrets about You. A limb just moved before me the beauty of this world is causing me to weep. […]

Read More A Limb Just Moved

Happy Father’s Day

मेरे पिताजी बहुत बहुत अच्छे थे।मगर वो अमीर नहीं थे।सारा समय गुजर जाता था उनकादो वक़्त की रोटी इक्कठी करने में।उनके पास समय ही नहीं बचता था मुझे घुमाने यामेरी किसी मौज मस्ती के लिए,इसलिए वो मौज मस्ती मैं अपने बेटे के साथ करता हूं।जब मेरे पास वक़्त होता है मैं अपने बेटे को पास […]

Read More Happy Father’s Day